Menu Close

दिव्यांगजनों के लिए कौशल प्रशिक्षण की शुरुआत

देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के कौशल भारत, कुशल भारत के सपने को पुरा करने के लिए HPKVN का एक कदम जिसके तहत प्रदेश के दिव्यांगजनों को कौशल प्रशिक्षण दिया जाएगा। अब तक सामान्य वर्ग वालों को ही प्राथमिकता दी जाती थी मगर अब दिव्यांगजनों को भी मुख्य धारा से जोड़ कर व्यवसायिक प्रशिक्षण प्रदान करने की व्यवस्था की गयी है।

कौशल विकास निगम और नवज्योति प्रशिक्षण संस्था के माध्यम से आज काँगड़ा के गगल प्रशिक्षण केंद्र में 40 प्रशिक्षुओं के पहले बैच की शुरुआत की गयी जिसमें 30 पुरुष और 10 महिलाएँ हैं, कुल 300 प्रशिक्षुओं के प्रशिक्षण के लक्ष्य को एक वर्ष मे पुरा किया जायेगा। प्रशिक्षण रीटेल एवं पर्यटन और आतिथ्य के क्षेत्र मे दिया जाएगा जिसमें मूक बधिर एवं शारीरिक रूप से असक्षम प्रशिक्षुओं के प्रशिक्षण की व्यवस्था होगी और प्रशिक्षण के उपरांत उनके रोज़गार हेतु मार्गदर्शन भी प्रदान किया जाएगा। ऐसे प्रशिक्षु जो प्रशिक्षण केंद्र आने मे असमर्थ होंगे उनके लिए नि:शुल्क आवास की भी व्यवस्था है।

इस मौक़े पर निगम के प्रदेश समन्वयक श्री नवीन शर्मा उपस्थित थे जिन्होंने फ़ीता काट कर प्रशिक्षण का शुभारम्भ किया, श्री शर्मा ने बताया की प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर भी दिव्यांगजनों के प्रशिक्षण के लिये प्रयासरत हैं व समय समय पर इस से जुड़े मामलों की समीक्षा की जाती रही है। यह कौशल प्रशिक्षण ना केवल दिव्यांगजनों को संबल प्रदान करेगा बल्कि उनके रोज़गार और स्वरोज़गार के द्वार भी खोलेगा, दिव्यांगजनों के कौशल प्रशिक्षण हेतु कौशल विकास निगम का एक सराहनीय पहल है। श्री शर्मा ने प्रशिक्षुओं को आशीर्वचन दिए और उनके उज्ज्वल भविष्य की कमना भी की, मौक़े पर श्री रमेश बरार, ज़िला परिषद काँगड़ा के अध्यक्ष भी मौजूद थे।